हवाना सिंड्रोम (Havana Syndrome) : डेली करेंट अफेयर्स

हवाना सिंड्रोम (Havana Syndrome)

चर्चा में क्यों?

हवाना सिंड्रोमकीरहस्यमय प्रकृति ने लोगों को भ्रमित करदियाहै। हवाना सिंड्रोम की खबरें फिर से सामने आईं जब सीआईए के एक अधिकारी ने कहा कि वह भारत की अपनी यात्रा के दौरानहवाना सिंड्रोम लक्षणों का अनुभव कर रहे थे।

हवाना सिंड्रोम

क्यूबा की राजधानी हवाना में तैनातअमेरिकाके राजनयिकों और अन्य कर्मचारियों ने अजीब सी आवाज़ें सुनाई देने तथा शारीरिक संवेदनाओं के बाद इस बीमारी को महसूस किया। इस बीमारी के लक्षणों में मिचली, तेज सिरदर्द, थकान, चक्कर आना, नींद की समस्या आदि शामिल हैं। इसे ही हवाना सिंड्रोम कहा जाने लगा। डॉक्टर और वैज्ञानिक इसकी वजहों का पता लगाने में जुटे हैं, लेकिन किसी ठोस नतीजे पर नहीं पहुंच पाए हैं।

हवाना सिंड्रोम के लक्षण क्‍या हैं?

नैशनल एकेडमी ऑफ साइंसेज के अनुसार, कुछ लक्षण अचानक महसूस होते हैं तो कुछ लंबे वक्‍त तक रहते हैं।

  • तेज आवाजें सुनाई देना (क्लिक, चहचहाहट और घसीटने जैसी आवाजें, एक या दोनों कानों में दर्द, कुछ लोगों को एक खास दिशा से परेशानी हुई, कुछ को किसी जगह से)
  • टिनिटिस (कान में सीटियां बजना), सुनने की क्षमता कम होना
  • सिर के अंदर तेज दबाव या वाइब्रेशन
  • याद रखने या फिर ध्‍यान में समस्‍या
  • देखने में परेशानी
  • जी मिचलाना
  • लड़खड़ाना, बैलेंस बिगड़ना, सिर चकराना

हवाना सिंड्रोम’ होता कैसे है?

वैज्ञानिकों के बीच एक राय नहीं है। अमेरिका की नैशनल एकेडमी ऑफ साइंसेज के अनुसार, सबसे मुमकिनथियोरीयह है कि ‘डायरेक्‍टेड, पल्‍सड रेडियो फ्रीक्‍वेंसी एनर्जसे यह सिंड्रोम होता हो। सीआईए के निदेशक विलियम बर्न्‍स ने कहा है कि बहुत हद तक संभव है कि यह सिंड्रोम इंसान नियंत्रण में हो और शायद रूस इसके पीछे हो। अमेरिका के ज्‍यादातर अधिकारी मानते हैं कि यह इलेक्‍ट्रॉनिक हथियारों से किया गया हमला है। हालांकि किसी अंतिम नतीजे पर नहीं पहुंचा जा सका है।