विश्व रक्तदाता दिवस - 2021 (World Blood Donor Day - 2021) : डेली करेंट अफेयर्स

विश्व रक्तदाता दिवस - 2021 (World Blood Donor Day - 2021)

चर्चा में क्यों?

  • हाल ही में विश्वभर में विश्व रक्तदाता दिवस-2021(World Blood Donor Day-2021) मनाया गया है।
  • विश्व रक्तदाता दिवस-2021 की थीम ‘Celebrating the Gift of Blood’ है, जबकि इसका स्लोगन ‘Share Life, Give Blood’ है।

विश्व रक्तदाता दिवस (World Blood Donor Day)

  • हर साल 14 जून को विश्व रक्त दाता दिवस मनाया जाता है, इसे 14 जून 1868 में पैदा हुए कार्ल लैंडस्टेनर के जन्मदिन के दिन मनाया जाता है।
  • वर्ष 2004 में “विश्व स्वास्थ्य संगठन, अंतरराष्ट्रीय रेड क्रॉस संघ तथा रेड क्रिसेंट समाज” के द्वारा 14 जून को वार्षिक तौर पर मनाने के लिये पहली बार इसकी शुरुआत और स्थापना हुयी। इसका मुख्य कारण था कि रक्त जैसी जरुरी चीज के लिए लोगों को पैसा खर्च न करना पड़े और आसानी से मुश्किल परिस्थिति में रक्त उपलब्ध हो सके।
  • रक्त दाता इस दिन एक मुख्य भूमिका में होता है क्योंकि वो जरुरतमंद व्यक्ति को जीवन बचाने वाला रक्त दान करते हैं। साथ ही यह भी सदस्यों का उद्देश्य था कि दुनिया भर में सभी देश प्रेरित हो, और पर्याप्त रक्त आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए, स्वैच्छिक, सुरक्षित और अवैतनिक रक्त दान को बढ़ावा मिले।

डब्ल्यूएचओ द्वारा आयोजित किए जाने वाले अन्य महत्वपूर्ण दिवस

  • विश्व क्षय रोग
  • विश्व टीकाकरण दिवस
  • विश्व मलेरिया दिवस
  • विश्व तंबाकू निषेध दिवस
  • विश्व एड्स दिवस
  • विश्व स्वास्थ्य दिवस
  • विश्व चैगस रोग दिवस
  • विश्व रोगी सुरक्षा दिवस
  • विश्व हेपेटाइटिस दिवस

‘विश्व स्वास्थ्य संगठन’ (World Health Organization-WHO)

  • ‘विश्व स्वास्थ्य संगठन’ (World Health Organization-WHO), संयुक्त राष्ट्र संघ की विशेष एजेंसी है। इसकी स्थापना वर्ष 1948 हुई थी।
  • विश्व स्वास्थ्य संगठन का मुख्यालय जिनेवा, स्विट्ज़रलैंड में स्थित है। आम तौर पर विश्व स्वास्थ्य संगठन अपने सदस्य राष्ट्रों के स्वास्थ्य मंत्रालयों के सहयोग से कार्य करता है।
  • भारत 12 जनवरी, 1948 को विश्व स्वास्थ्य संगठन (डबल्यूएचओ) संविधान का पक्षकार बना था। कोविड-19 महामारी के निदान में भी भारत तथा विश्व स्वास्थय संगठन सहयोगी के रूप में कार्य कर रहे हैं।
  • भारत में डब्ल्यूएचओ टीकाकरण कार्यक्रम में एक महत्वपूर्ण भागीदार रहा है। टीबी से निपटने ,कुष्ठ रोग ,कालाजार और पोषण कार्यक्रम आदि में इस संगठन की महत्वपूर्ण भूमिका रही है।