यूपीएससी और सभी राज्य लोक सेवा आयोग परीक्षाओं के लिए हिंदी में करेंट अफेयर्स MCQs क्विज़ : 12, मई 2022


यूपीएससी और सभी राज्य लोक सेवा आयोग परीक्षाओं के लिए हिंदी में डेली करेंट अफेयर्स MCQ क्विज़

(Daily Current Affairs MCQs Quiz for UPSC, IAS, UPPSC/UPPCS, MPPSC. BPSC, RPSC & All State PSC Exams)

तारीख (Date): 12, मई 2022


प्रश्न 1. निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिये:

1. MSME की अवधारणा को पहली बार भारत सरकार द्वारा सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम विकास अधिनियम, 1956 के माध्यम से पेश किया गया था।
2. एमएसएमई को उनके लाभ और निवेश के अनुसार वर्गीकृत किया जाता है।

ऊपर दिए गए कथनों में से कौन सा/से कथन सही है/हैं?

a) केवल 1
b) केवल 2
c) केवल 1 और 2
d) इनमें से कोई भी नहीं

उत्तर: (D)

व्याख्या:

  • एमएसएमई की अवधारणा को पहली बार भारत सरकार द्वारा सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम विकास (MSMED) अधिनियम, 2006 के माध्यम से पेश किया गया था।
  • एमएसएमई को उनके टर्नओवर और निवेश के अनुसार वर्गीकृत किया जाता है।

प्रश्न 2. कौन से द्वीप 'आठ डिग्री चैनल' द्वारा एक-दूसरे से अलग किए जाते हैं?

a) अंडमान और निकोबार
b) लक्षद्वीप और मिनिकॉय
c) मिनिकॉय और मालदीव
d) अमींदीव और कैनानोर

उत्तर: (C)

व्याख्या:

  • 10- डिग्री चैनल: अंडमान और निकोबार
  • 9- डिग्री चैनल : लक्षद्वीप और मिनिकॉय
  • 8- डिग्री चैनल: मिनिकॉय और मालदीव

प्रश्न 3. यदि RBI एक विस्तारवादी मौद्रिक नीति को अपनाने का निर्णय लेता है, तो यह निम्नलिखित में से क्या नहीं करेगा?

1. कटौती और वैधानिक तरलता अनुपात का अनुकूलन
2. सीमांत स्थायी सुविधा दर में वृद्धि
3. बैंक दर और रेपो दर में कटौती

नीचे दिए गए कूट का उपयोग करके सही उत्तर का चयन कीजिए।

a. 1 और 2
b. केवल 2
c. 1 और 3
d. 1, 2 और 3

उत्तर: (B)

व्याख्या:

  • विस्तारवादी धन नीति को सस्ती / डोविश मनी पॉलिसी के रूप में भी जाना जाता है।
  • इसमें, RBI ब्याज दरों को कम करने की कोशिश करेगा ताकि पैसे की आपूर्ति को बढ़ाया जा सके।
  • इस प्रकार, यह रेपो दर, बैंक दर, एसएलआर को कम कर देगा
  • MSF बढ़ाने से ऋण दरों में वृद्धि होगी, इसलिए RBI द्वारा विस्तारवादी धन नीति में ऐसा नहीं किया जाएगा।

प्रश्न 4. निम्नलिखित में कौन सा/से कथन सत्य है/हैं?

1. तीसरी राष्ट्रीय वन्यजीव कार्ययोजना (WAP-3) में सभी गैर-कृषि वनस्पतियों और गैर पालतू जीवों के संरक्षण के लिये एक भू-परिदृश्य दृष्टिकोण को अपनाया गया है।
2. भारत में कुल भौगोलिक क्षेत्र का 20% से अधिक क्षेत्रफल प्रभावी वन्यजीव संरक्षण के अंतर्गत है।

A. केवल 1
B. केवल 2
C. 1 और 2 दोनों
D. न तो 1, न ही 2

उत्तर: (C)

व्याख्या:

भारत और जैव-विविधता संरक्षण:

  • भारत में संरक्षित क्षेत्र तंत्र का उपयोग जैव-विविधता संरक्षण और संसाधन पर निर्भर आबादी के कल्याण के लिये प्राकृतिक संसाधनों के प्रबंधन हेतु एक साधन के रूप में किया गया है। भारत में कुल भौगोलिक क्षेत्र का 20% से अधिक प्रभावी वन्यजीव संरक्षण के अंतर्गत है। अतः कथन 2 सही है।
  • संरक्षित क्षेत्र (Protected Areas) स्पष्ट रूप से परिभाषित भौगोलिक क्षेत्र हैं, जो वैधानिक एवं अन्य प्रभावी उपायों द्वारा मान्यता प्राप्त, समर्पित और प्रबंधित होते हैं ताकि संबद्ध पारिस्थितिकी तंत्र सेवाओं और सांस्कृतिक मूल्यों के साथ प्रकृति के दीर्घकालिक संरक्षण का उद्देश्य पूरा हो सके।

तीसरी राष्ट्रीय वन्यजीव कार्ययोजना (2017-2031):

  • यह इस अवधारणा पर आधारित है कि पारिस्थितिकी तंत्र द्वारा शासित, समर्थित या दृढ़ता से संचालित पारिस्थितिकी प्रक्रियाएँ खाद्य उत्पादन, स्वास्थ्य एवं मानव अस्तित्व के अन्य पहलुओं और सतत विकास के लिये आवश्यक हैं।
  • सभी गैर-कृषि वनस्पतियां (Uncultivated Flora) और गैर-पालतू जीव (Undomesticated Fauna), अपनी उपस्थिति के स्थलों के आधार पर संपूर्ण मानव जाति हेतु पारिस्थितिकी रूप से मूल्यवान हैं। इसीलिए तीसरी राष्ट्रीय वन्यजीव कार्ययोजना में इन ग़ैर कृषि वनस्पतियों और गैर फालतू जीवो के संरक्षण के लिए एक परिदृश्य दृष्टिकोण अपनाया गया है। अतः कथन 1 सही है।

परिदृश्य दृष्टिकोण (Landscape Approach) :

  • यह प्रतिस्पर्धी भूमि उपयोग मांगों को इस प्रकार संतुलित करने का दृष्टिकोण है जो मानव हित और पर्यावरण के लिये सर्वात्तम हो अर्थात् ऐसे समाधानों का सृजन जो खाद्य एवं आजीविका, वित्त, अधिकार, पुनर्स्थापना पर विचार करे और जलवायु एवं विकास लक्ष्यों की ओर आगे बढ़े।
  • WAP-3 विभिन्न स्थल-विशिष्ट (Site-specific) रणनीतियों - जलवायु परिवर्तन अनुकूलन (Climate Change Adaptation - CCA), जलवायु परिवर्तन शमन (Climate Change Mitigation - CCM) और आपदा जोखिम न्यूनीकरण (Disaster Risk Reduction - DRR) के एकीकरण का आह्वावान करता है।

प्रश्न 5. निम्नलिखित में कौन सा/से कथन सत्य है/हैं?

1. पश्चिमी विक्षोभ रबी की फसलों के लिये उपयोगी होता है।
2. ओस, अमन और बोरो दक्षिण भारत में होने वाली पूर्व-मानसून वर्षा है।
3. तरबूज और खरबूज जायद मौसम की फसलें हैं।

A. केवल 1 और 2
B. केवल 1 और 3
C. केवल 2 और 3
D. 1, 2 और 3

उत्तर: (B)

व्याख्या: ओस, अमन और बोरो धान की फसलें हैं। इसलिए, कथन 2 गलत है।

प्रश्न 6. निम्नलिखित में कौन सा/से कथन सत्य है/हैं?

1. हिमालय की उत्तरी ढालों पर दक्षिणी ढालों की तुलना में अधिक सघन वनस्पति पाई जाती है।
2. नीलगिरि, अन्नामलाई ओर पालनी पहाड़ियों पर पाए जाने वाले शीतोष्ण कटिबंधीय वनों को शोलास कहा जाता है।

A. केवल 1
B. केवल 2
C. 1 और 2 दोनों
D. न तो 1, न ही 2

उत्तर: (B)

व्याख्या: शुष्क उत्तरी ढालों की तुलना में अधिक वर्षा वाले हिमालय के दक्षिणी ढालों पर अधिक वनस्पति पाई जाती है। अतः कथन 1 सही नहीं है। अधिक ऊँचाई वाले भागों में टुंड्रा वनस्पति, जैसे मॉस और लाइकन आदि पाए जाते हैं। नीलगिरी, अन्नामलाई और पालनी पहाड़ियों पर पाए जाने वाले शीतोष्ण कटिबंधीय वनों को शोलास के नाम से जाना जाता है। अतः कथन 2 सही है। इन वनों में पाए जाने वाले वृक्षों में मगनोलिया, लैरेल, सिनकोना और वैटल का आर्थिक महत्व है। ये वन सतपुड़ा और मैकाल श्रेणियों में भी पाए जाते हैं।

प्रश्न 7. निम्नलिखित में से कौन-सी गहन निर्वाह कृषि की विशेषताएं हैं?

1. अधिक जनसंख्या के कारण भूमि पर दबाव।
2. श्रम गहनता।
3. कीटनाशकों और उर्वरकों का अधिक प्रयोग।

A. केवल 1 और 2
B. केवल 2 और 3
C. केवल 1 और 3
D. 1, 2 और 3

उत्तर: (D)

व्याख्या: गहन निर्वाह कृषि : इस प्रकार की कृषि उन इलाक़ों में की जाती है जहाँ भूमि पर जनसंख्या का दबाव अधिक होता है।

  • यह श्रम गहन कृषि है, जहाँ अधिक उत्पादन के लिये अधिक मात्रा में जैव-रासायनिक निवेशों और सिंचाई का प्रयोग किया जाता है।
  • ‘भूस्वामित्व में विरासत के अधिकार’ के कारण पीढ़ी दर पीढ़ी जोतों का आकार छोटा और अलाभप्रद होता जा रहा है और किसान वैकल्पिक रोजगार न होने के कारण सीमित भूमि से अधिकतम पैदावार लेने की कोशिश करते हैं। इस प्रकार, कृषि भूमि पर भारी दबाव है।