यूपीएससी और सभी राज्य लोक सेवा आयोग परीक्षाओं के लिए हिंदी में करेंट अफेयर्स MCQs क्विज़ : 18, मई 2022


यूपीएससी और सभी राज्य लोक सेवा आयोग परीक्षाओं के लिए हिंदी में डेली करेंट अफेयर्स MCQ क्विज़

(Daily Current Affairs MCQs Quiz for UPSC, IAS, UPPSC/UPPCS, MPPSC. BPSC, RPSC & All State PSC Exams)

तारीख (Date): 18, मई 2022


प्रश्न 1. हेडलाइन इन्फ्लेशन के बारे में निम्नलिखित कथनों पर विचार करें:

1. हेडलाइन मुद्रास्फीति की गणना थोक मूल्य सूचकांक का उपयोग करके की जाती है।
2. इसमें वे वस्तुएं शामिल हैं जो अधिक अस्थिर हैं और मुद्रास्फीति को बढ़ा सकती हैं।

उपरोक्त में से कौन सा/से कथन सही है/हैं?

a) केवल 1
b) केवल 2
c) 1 और 2 दोनों
d) न तो 1 और न ही 2

उत्तर: (B)

व्याख्या: हेडलाइन मुद्रास्फीति: यह एक अर्थव्यवस्था के भीतर कुल मुद्रास्फीति का एक उपाय है, जिसमें खाद्य और ऊर्जा की कीमतें (जैसे, तेल और गैस) जैसी वस्तुएं शामिल हैं, जो बहुत अधिक अस्थिर होती हैं और मुद्रास्फीति की वृद्धि की संभावना होती है। इसकी गणना उपभोक्ता मूल्य सूचकांक द्वारा की जाती है।

प्रश्न 2. लिथियम-आयन बैटरी के बारे में निम्नलिखित कथनों पर विचार करें:

1. लिथियम-आयन बैटरी या ली-आयन बैटरी एक प्रकार की रिचार्जेबल बैटरी है जो कोशिकाओं से बनी होती है जिसमें लिथियम आयन नकारात्मक इलेक्ट्रोड से इलेक्ट्रोलाइट के माध्यम से डिस्चार्ज के दौरान सकारात्मक इलेक्ट्रोड में जाते हैं और चार्ज करते समय वापस आते हैं।
2. ली-आयन बैटरी में कम ऊर्जा घनत्व, उच्च स्मृति प्रभाव और कम स्व-निर्वहन होता है।
3. वे सुरक्षा के लिए खतरा हो सकते हैं क्योंकि उनमें ज्वलनशील इलेक्ट्रोलाइट्स होते हैं और यदि क्षतिग्रस्त या गलत तरीके से चार्ज किया जाता है, तो वे विस्फोट और आग का कारण बन सकते हैं।

सही कथन चुनें:

a) केवल 1 और 2
b) केवल 2 और 3
c) केवल 1 और 3
d) 1, 2 और 3

उत्तर: (C)

व्याख्या:

लिथियम आयन बैटरी

  • लिथियम-आयन बैटरी या ली-आयन बैटरी एक प्रकार की रिचार्जेबल बैटरी होती है जो कोशिकाओं से बनी होती है जिसमें लिथियम आयन नकारात्मक इलेक्ट्रोड से इलेक्ट्रोलाइट के माध्यम से डिस्चार्ज के दौरान सकारात्मक इलेक्ट्रोड में चले जाते हैं और चार्ज करते समय वापस आ जाते हैं।
  • ली-आयन कोशिकाएं सकारात्मक इलेक्ट्रोड पर सामग्री के रूप में एक इंटरकलेटेड लिथियम यौगिक का उपयोग करती हैं और आमतौर पर नकारात्मक इलेक्ट्रोड पर ग्रेफाइट का उपयोग करती हैं।
  • ली-आयन बैटरियों में उच्च ऊर्जा घनत्व और कम स्व-निर्वहन होता है। इस प्रकार, दूसरा कथन गलत है।
  • ऊर्जा या शक्ति घनत्व को प्राथमिकता देने के लिए कोशिकाओं का निर्माण किया जा सकता है।
  • हालांकि वे सुरक्षा के लिए खतरा हो सकते हैं क्योंकि उनमें ज्वलनशील इलेक्ट्रोलाइट्स होते हैं और यदि क्षतिग्रस्त या गलत तरीके से चार्ज किया जाता है तो विस्फोट और आग लग सकती है।

प्रश्न 3. औद्योगिक क्रांति के बारे में निम्नलिखित कथनों पर विचार करें

1) पहले आईआर में बड़े पैमाने पर उत्पादन के लिए विद्युत शक्ति का उपयोग शामिल था।
2) तीसरे आईआर ने उत्पादन के लिए इलेक्ट्रॉनिक घटकों के बढ़ते उपयोग को चिह्नित किया, अंततः कंप्यूटर को शामिल किया

निम्नलिखित में से कौन सा विकल्प सही है?

a) केवल 1
b) केवल 2
c) 1 और 2 दोनों
d) न तो 1 और न ही 2

उत्तर: (B)

व्याख्या:

  • पहली आईआर में कुटीर उद्योगों से कारखानों में स्थानांतरित करने के लिए मशीनीकृत बिजली का उपयोग शामिल था
  • 2nd आईआर में बड़े पैमाने पर उत्पादन के लिए विद्युत शक्ति का उपयोग शामिल था।

प्रश्न 4. विश्व स्वास्थ्य संगठन के बारे में निम्नलिखित कथनों पर विचार करें:

1. विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) संयुक्त राष्ट्र की एक विशेष एजेंसी है।
2. विश्व स्वास्थ्य सभा विश्व स्वास्थ्य संगठन की सर्वोच्च निर्णय लेने वाली संस्था है।

उपरोक्त में से कौन सा/से कथन सही है/हैं?

a) केवल 1
b) केवल 2
c) 1 और 2 दोनों
d) इनमें से कोई नहीं

उत्तर: (C)

व्याख्या:

  • विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) संयुक्त राष्ट्र की एक विशेष एजेंसी है जो सार्वजनिक स्वास्थ्य के मामलों को देखती है।
  • विश्व स्वास्थ्य सभा विश्व स्वास्थ्य संगठन का सर्वोच्च निर्णय लेने वाला निकाय है।

प्रश्न 5. भारत के अपवाह तंत्र से संबंधित निम्नलिखित में से कौन सा/से युग्म सही सुमेलित है/हैं?

1. अरीय अपवाह - अमरकंटक पठार
2. अंतः स्थलीय अपवाह - पश्चिमी राजस्थान
3. पूर्ववर्ती अपवाह - हिमालय क्षेत्र
4. केन्द्राभिमुखी अपवाह - लोकटक बेसिन

A. 1, 2 और 3
B. 2, 3 और 4
C. 1, 3 और 4
D. 1, 2, 3 और 4

उत्तर: (D)

व्याख्या: अरीय अपवाह ज्वालामुखी शंकु या गुम्बदीय क्षेत्र के समान होता है। अरीय अपवाह का उदाहरण अमरकंटक पठार से निकलने वाली नर्मदा, सोन तथा महानदी नदियाँ हैं। इसके अलावा,

  • अंतः स्थलीय अपवाह पश्चिमी राजस्थान में मिलता है। राजस्थान की रूपनारायन, मेढ़ा तथा लूनी नदियाँ इसका सुन्दर उदाहरण हैं।
  • पूर्ववर्ती अपवाह तंत्र पर संरचना तथा उत्थान का कोई प्रभाव नहीं पड़ता है। यदि किसी क्षेत्र में अपवाह प्रणाली का विकास हो चुका हो तथा बाद में प्रवाह मार्ग पर स्थलखण्ड का उत्थान हो जाता है और नदी इस उठे हुए भू-खण्ड को काटकर अपने पुराने प्रवाह मार्ग का अनुसरण करती है, तो ऐसी प्रवाह प्रणाली को पूर्ववर्ती अपवाह तंत्र कहते हैं। सिन्धु, सतलुज तथा ब्रह्मपुत्र नदियाँ भारतीय उपमहाद्वीप में इस अपवाह प्रणाली के प्रमुख उदाहरण हैं।
  • केन्द्राभिमुखी अपवाह, अपवाह तंत्र का वह रूप है जिसमें नदियाँ चारों तरफ से प्रवाहित होकर केन्द्र की ओर जाती हैं। इस तरह का अपवाह तंत्र लोकटक बेसिन में पाया जाता है।

प्रश्न 6. कर्क रेखा निम्नलिखित में से किन राज्यों से होकर गुजरती है?

1. राजस्थान
2. मध्य प्रदेश
3. छत्तीसगढ़
4. पश्चिम बंगाल

A. 1 और 2
B. 1 और 3
C. 2 और 4
D. 1, 2, 3 और 4

उत्तर: (D)

व्याख्या: कर्क रेखा देश के 8 राज्यों - गुजरात, राजस्थान, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, झारखड, पश्चिम बंगाल, त्रिपुरा और मिजोरम से होकर गुजरती है। कर्क रेखा को उत्तरी कटिबंध के नाम से भी जाना जाता है। यह भूमध्य रेखा के उत्तर में 23°26′13.4″ (या 23.43705°) पर स्थित है।

प्रश्न 7. केनारी जलधारा एवं कैलिफोर्निया जलधारा की उत्पत्ति के लिए निम्नलिखित में से कौन-सा कारक मुख्यतः उत्तरदायी है?

A. अधिक वर्षा
B. समुद्री सतह के नीचे के ठंडे जल का उत्प्रवाह
C. हिम शिलाखंडों का पिघलना
D. पछुआ पवनों का प्रवाह

उत्तर: (D)

व्याख्या: कनारी धारा एक ठण्डी जलधारा है, जो उत्तरी अफ्रीका के पश्चिमी तट के सहारे मडेरिया तथा केपवर्ड के बीच में प्रवाहित होती है। इसकी उत्पत्ति व्यापारिक पवनों के कारण होती है। व्यापारिक पवनों के कारण उत्तरी अफ्रीका के पश्चिमी तट के पास से जल पश्चिम दिशा की ओर हटा लिया जाता है और यह एक ठंडी धारा का रूप धारण कर लेता है।

कैलिफोर्निया धारा एक ठण्डी जलधारा है। वास्तव में यह उत्तरी प्रशान्त महासागरीय धारा का ही बढ़ा हुआ भाग है। जब व्यापारिक पवनों के प्रभाव से अमेरिकी तट से जल हट कर उत्तरी विषुवत् रेखीय धारा के रूप में पश्चिम की ओर प्रवाहित होने लगता है, तो तट के पास जलाभाव की आपूर्ति के लिए उत्तर से दक्षिण दिशा में कैलिफोर्निया धारा चलने लगती है।