यूपीएससी और सभी राज्य लोक सेवा आयोग परीक्षाओं के लिए हिंदी में करेंट अफेयर्स MCQs क्विज़ : 21, अप्रैल 2022


यूपीएससी और सभी राज्य लोक सेवा आयोग परीक्षाओं के लिए हिंदी में डेली करेंट अफेयर्स MCQ क्विज़

(Daily Current Affairs MCQs Quiz for UPSC, IAS, UPPSC/UPPCS, MPPSC. BPSC, RPSC & All State PSC Exams)

तारीख (Date): 21, अप्रैल 2022


प्रश्न 1. भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण (ट्राई) के बारे में निम्नलिखित कथनों पर विचार करें :

1. ट्राई भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण अधिनियम, 1997 की धारा 3 के तहत भारत सरकार द्वारा स्थापित एक नियामक संस्था है।
2. इसमें एक अध्यक्ष होता है और चार से अधिक पूर्णकालिक सदस्य और दो से अधिक अंशकालिक सदस्य नहीं हो सकते हैं।

उपरोक्त में से कौन सा/से कथन सही नहीं है/हैं?

a) केवल 1
b) केवल 2
c) 1 और 2 दोनों
d) न तो 1 और न ही 2

उत्तर: (B)

व्याख्या:

  • भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण (ट्राई) भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण अधिनियम, 1997 की धारा 3 के तहत भारत सरकार द्वारा स्थापित एक नियामक निकाय है।
  • यह भारत में दूरसंचार क्षेत्र का नियामक है।
  • इसमें एक अध्यक्ष होता है और दो से अधिक पूर्णकालिक सदस्य और दो से अधिक अंशकालिक सदस्य नहीं हो सकते हैं।

प्रश्न 2. निम्नलिखित कथनों पर विचार करें :

1. इंदिरा गांधी के काल में भारत सरकार द्वारा कोयला क्षेत्र का राष्ट्रीयकरण किया गया था।
2. अब लॉटरी के आधार पर कोयला ब्लॉकों का आवंटन किया जाता है।
3. अभी तक भारत घरेलू आपूर्ति की कमी को पूरा करने के लिए कोयले का आयात करता था, लेकिन अब भारत कोयला उत्पादन में आत्मनिर्भर है।

ऊपर दिए गए निम्नलिखित में से कौन सा/से कथन सही है/हैं?

a) केवल 1
b) केवल 2 और 3
c) केवल 3
d) 1,2 और 3

उत्तर: (A)

व्याख्या:

  • कोयला खान राष्ट्रीयकरण अधिनियम 1973 :- कोल इंडिया और अन्य सीपीएसई ने निजी कोयला खनन कंपनियों का अधिग्रहण किया। वे कोयला खोदेंगे, इसे थर्मल पावर प्लांट और अन्य उद्योगों को बेचेंगे। (इंदिरा गांधी उस समय प्रधानमंत्री थीं।)
  • कोयला खान विशेष प्रावधान अधिनियम :- यह निजी और सार्वजनिक दोनों संस्थाओं के लिए वाणिज्यिक कोयला खनन को खोलता है और इस प्रकार कोल इंडिया के एकाधिकार को समाप्त करता है। फिलहाल कोयला ब्लॉक नीलामी के आधार पर आवंटित किए जाते हैं।
  • भारत अभी भी प्रतिवर्ष भारी मात्रा में कोयले का आयात करता है।

प्रश्न 3. निम्नलिखित कथनों पर विचार करें :

1. आठवीं अनुसूची में भारत गणराज्य की आधिकारिक भाषाओं को सूचीबद्ध किया गया है।
2. एस.के धर आयोग और जेवीपी समिति भाषा से संबंधित हैं।

निम्नलिखित में से कौन से कथन सही है/हैं?

a) केवल 1
b) केवल 2
c) दोनों 1 और 2
d) इनमे से कोई भी नहीं

उत्तर: (C)

प्रश्न 4. आयुष्मान भारत के बारे में निम्नलिखित कथनों पर विचार करें।

1. यह भारत में सार्वजनिक और निजी सूचीबद्ध अस्पतालों में प्राथमिक और माध्यमिक देखभाल अस्पताल में भर्ती होने के लिए प्रति वर्ष प्रति परिवार 5 लाख का कवर प्रदान करता है।
2. यह योजना कुछ केंद्रीय क्षेत्र के घटकों के साथ एक केंद्रीय प्रायोजित योजना है।

ऊपर दिए गए कथनों में से कौन सा/से कथन सही है/हैं?

a) केवल 1
b) केवल 2
c) 1 और 2 दोनों
d) इनमें से कोई भी नहीं

उत्तर: (B)

व्याख्या:

  • यह दुनिया की सबसे बड़ी स्वास्थ्य बीमा योजना है जो पूरी तरह से सरकार द्वारा वित्त पोषित है।
  • यह एक केंद्रीय प्रायोजित योजना है।

प्रश्न 5. बीते 17 अप्रैल को प्रफुल्ल कार का निधन हो गया। यह निम्नलिखित में से किस क्षेत्र से संबंधित थे?

A. खेल जगत
B. राजनीति
C. संगीत एवं लेखन
D. मूर्तिकार

उत्तर: (C)

व्याख्या: 16 फरवरी 1939 को जन्में दिवंगत प्रफुल्ल कार ओडिशा के जाने-माने संगीतकार, गायक, लेखक और स्तंभकार थे। उन्हें 2015 में भारत सरकार ने पद्म श्री पुरस्कार से सम्मानित किया था। उन्होंने अपने करियर में 70 से ज्यादा ओड़िया फिल्मों में संगीत दिया। साथ ही 4 बांग्ला फिल्मों में अपनी आवाज का जादू भी बिखेरा था। बीते 17 अप्रैल को इनका निधन हो गया। उनके निधन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक सहित देश के गणमान्य व्यक्तियों ने गहरा शोक व्यक्त किया है।

प्रश्न 6. थोक मूल्य सूचकांक के संबंध में निम्नलिखित में कौन सा/से कथन सत्य है/हैं?

1. थोक स्तर पर सामानों की कीमतों का आकलन करने के लिए थोक मूल्य सूचकांक यानी WPI का इस्तेमाल किया जाता है।
2. इसमें मैन्युफैक्चरिंग उत्पादों को सबसे ज़्यादा भार (weightage) दिया जाता है।
3. इसे राष्ट्रीय सांख्यिकी कार्यालय, सांख्यिकी और कार्यक्रम कार्यान्वयन मंत्रालय भारत सरकार द्वारा जारी किया जाता है।

A. केवल 1
B. केवल 1 और 2
C. केवल 2 और 3
D. 1, 2 और 3

उत्तर: (B)

व्याख्या: बीते 18 अप्रैल को जारी आधिकारिक आंकड़ों के मुताबिक, अप्रैल 2021 से लेकर लगातार 12वें महीने में थोक महंगाई दर दो अंकों में बनी हुई है। थोक कीमतों पर आधारित मुद्रास्फीति (WPI) मार्च में चार महीने के उच्च स्तर 14.55 प्रतिशत पर पहुंच गई। यह बढ़ोतरी मुख्य रूप से कच्चे तेल और कमोडिटी की कीमतों तेजी के चलते हुई, जबकि इस दौरान सब्जियों की कीमतों में कमी देखी गई। बता दें कि WPI और CPI - इन दोनों सूचकांकों के ज़रिए मुद्रास्फ़ीति यानी महँगाई की गणना की जाती है। थोक स्तर पर सामानों की कीमतों का आकलन करने के लिए थोक मूल्य सूचकांक यानी WPI का इस्तेमाल किया जाता है। इसमें मैन्युफैक्चरिंग उत्पादों को सबसे ज़्यादा भार (weightage) दिया जाता है। इसे आर्थिक सलाहकार कार्यालय, वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय भारत सरकार द्वारा जारी किया जाता है। बता दें कि भारत में महँगाई की गणना थोक मूल्य सूचकांक के आधार पर की जाती है। ख़ुदरा स्तर पर महँगाई मापने के लिए उपभोक्ता मूल्य सूचकांक यानी सीपीआई का इस्तेमाल किया जाता है। इसमें खाद्य और पेय पदार्थों को सबसे ज़्यादा भार (weightage) दिया जाता है। इसे राष्ट्रीय सांख्यिकी कार्यालय, सांख्यिकी और कार्यक्रम कार्यान्वयन मंत्रालय भारत सरकार द्वारा जारी किया जाता है।

प्रश्न 7. हाल ही में सुर्खियों में रही गिनी गुणांक निम्नलिखित में से किससे संबंधित है?

A. समाज में प्रसन्नता का स्तर मापने से
B. जनजातीय शिक्षा का स्तर मापने से
C. अंतरजातीय विवाह की सामाजिक स्वीकार्यता मापने से
D. आर्थिक असमानता को मापने से

उत्तर: (D)

व्याख्या: विश्व बैंक ने हाल ही में एक वर्किंग पेपर जारी किया। इसका शीर्षक 'Poverty in India Has Declined over the Last Decade But Not As Much As Previously Thought' है। इसके मुताबिक भारत में अत्यधिक गरीबी यानी चरम निर्धनता 2019 के पूर्व-कोविड वर्ष में घटकर 10.2% हो गई, जो 2011 में 22.5% थी। रिपोर्ट में कहा गया है कि गिनी गुणांक 40 साल के निचले स्तर पर पहुंच गई है। वर्ष 1993-94 में यह 0.284 थी, जो 2020-21 में 0.292 पर पहुंच गई। आपको बता दें कि गिनी गुणांक आबादी के बीच आय वितरण को मापता है। यह 0 से 1 तक होता है, जिसमें 0 मतलब समाज में सम्पत्तियों का वितरण बिलकुल समान है और 1 मतलब समाज में पूरी तरह से असमानता व्याप्त है यानी पूरी संपत्ति केवल एक ही व्यक्ति के हाथ में केंद्रित है। वहीं, वर्ल्ड बैंक के अनुसार प्रतिदिन 1.9 डॉलर से कम में जीवन यापन करने वाले लोग अत्यधिक गरीबी की श्रेणी में आते हैं।